छठ पूजा की एक रियल स्टोरी A Real Story Of Chhath Puja

छठ पूजा की एक रियल स्टोरी A Real Story Of Chhath Puja

छठ पूजा की एक रियल स्टोरी = पूजा की एक आँखों देखि घटना जिसे सुन के आपका विस्वार और छठ पूजा के प्रति निष्ठा और भी बढ़ जाएगी। दोस्तों आज में आप लोगों को छठ पूजा की एक सच्ची घटना बताने जा रहा हूँ जो मेरे आँखों के सामने घाटी है। जैसा की आप लोगों को बता दूँ की खवासपुर एक गांव का नाम है। तो ऐसी गांव की एक घटना में आप लोगों को बताने जा रहा हूँ। कुछ वर्ष पहले खवासपुर में जिस पुराने पोखर के किनारे वर्षों से छठ पूजा किया जा रहा है।

वहां उस वर्ष हुआ ये की एक परवर्तिन (छठ पूजा करने वाली महिला) जिसके घर वर्षों से उनकी सासु मां और वो छठ पर्व करते आ रही हैं। उस परवर्तिन की एक गलती से उनकी साडी में आग लग गयी।

full hd chhath wallpaper

छठ पूजा की एक रियल स्टोरी A Real Story Of Chhath Puja

छठ पूजा की एक रियल स्टोरी A Real Story Of Chhath Puja

उनकी गलती की कोई सम्भावना नहीं थी क्यों की खवासपुर में जब छठ पूजा सुरु हुआ तो उनके ही घर से सुरु हुआ था। उनलोगों को छठ पूजा की पूरी विधि विधान पता था इस लिए मेने खा उनकी गलती का कोई चांस नहीं था।

क्योंकि गलती उसके बेटे ने की थी खरना के बाद जब सूबे खरना में पहने साड़ी को आँगन में सूखने को दिया गया था तो उनके बेटे ने बुरी आदतों के कारन उस साड़ी में मुँह पोछ लिया था। ये कहानी में इसलिए आपको बताना चाहता था की साड़ी में आग लगने के बाद आग की लपटें उस परवर्तिन के सर के ऊपर तक गयीं उस समय उनका बाल खुला हुआ था क्योंकि बाल खुले रखने की परम्परा है।

छठ पूजा की एक रियल स्टोरी A Real Story Of Chhath Puja

छठ पूजा स्टोरी इन हिंदी

और एक चमत्कार हुआ की उनके एक भी बाल नहीं जले मेरा मानना है की उनके बाल इसलिए नहीं जले क्योंकि उनकी गलती नहीं थी। उसी दिन से मुझे छठ पर्व पे पूरा विश्वास हो गया। पता है क्यों

क्योंकि वो लड़का में था और वो परवर्तिन मेरी मम्मी थी। और उस वक्त में वही था और ये साड़ी में मुँह पोंछने की बात मेने आज तक अपनी मम्मी को नहीं बताया। एक बात बोलूं कोई शक्ति तो है जो इस संसार को चला रही है। वार्ना ऐसे कारनामें नहीं होते जहाँ में (थैंक यू )

 

 


Happy Diwali 2018 Diwali HD Wallpaper Deepawali

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *